समाचार
आरबीआई गवर्नर ने 40 करोड़ फीचर फोन उपयोगकर्ताओं के लिए यूपीआई सेवा शुरू की

भारतीय रिज़र्व बैंक (आरबीआई) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने मंगलवार (8 मार्च) को नई सेवा शुरू की, जिससे 40 करोड़ से अधिक फीचर फोन उपयोगकर्ता सुरक्षित डिजिटल भुगतान कर सकेंगे।

वहीं, जिनके पास इंटरनेट नहीं है, वे यूपीआई ‘123पे’ नाम से शुरू की गई सेवा के माध्यम से डिजिटल भुगतान कर सकते हैं। यह सेवा साधारण मोबाइल फोन पर भी काम करेगी।

शक्तिकांत दास ने कहा, “अब तक यूपीआई की बहुआयामी विशेषताएँ अधिकतर स्मार्टफोन पर उपलब्ध हैं, जो समाज के निचले तबके के लोगों को आर्थिक दृष्टिकोण से विशेष रूप से गाँवों में लोकप्रिय सेवा तक पहुँचने नहीं देती है। चाहें स्मार्टफोन की कीमतें कम ही क्यों ना हो रही हों।”

उन्होंने कहा, “वित्त वर्ष 2021-22 में अब तक यूपीआई लेनदेन 76 लाख करोड़ रुपये तक पहुँच गया, जबकि गत वित्त वर्ष में यह आँकड़ा 41 लाख करोड़ रुपये था। वह दिन दूर नहीं, जब कुल लेन-देन का आँकड़ा 100 लाख करोड़ रुपये तक पहुँच जाएगा।”

एक अनुमान के मुताबिक, 40 करोड़ मोबाइल उपयोगकर्ता हैं, जिनके पास फीचर फोन हैं।

उप-राज्यपाल टी रविशंकर ने कहा, “वर्तमान में यूएसएसडी आधारित सेवाओं के माध्यम से ऐसे उपयोगकर्ताओं के लिए यूपीआई सेवाएँ उपलब्ध हैं लेकिन यह बेहद बोझिल है और सभी मोबाइल ऑपरेटर ऐसी सेवाओं की अनुमति नहीं देते।”

आरबीआई ने कहा कि फीचर फोन उपयोगकर्ता अब चार तकनीकी विकल्पों के आधार पर कई तरह के लेन-देन कर सकेंगे। इनमें आईवीआर (इंटरैक्टिव वॉयस रिस्पांस) नंबर पर कॉल करना, फीचर फोन में ऐप की कार्यक्षमता, मिस्ड कॉल-आधारित दृष्टिकोण और सामिप्य ध्वनि आधारित भुगतान सम्मिलित हैं।

आरबीआई गवर्नर ने डिजिटल भुगतान के लिए चौबीस घंटे हेल्पलाइन सेवा भी शुरू की, जिसे भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (एनपीसीआई) ने स्थापित किया है। डिजीसाथी नाम की हेल्पलाइन की सहायता वेबसाइट- डिजीसाथी डॉट कॉम और फोन नंबर 14431 व 1800-891-3333 के जरिए ली जा सकती है।